बिहार में अब महिलाएं भी चलायेंगी पुलिस वाहन, ड्राइवर के करीब 700 पद खाली

बदलाव. पुलिस ड्राइवर बहाली के िलए नयी नीित तैयार
पटना : राज्य में किसी छापेमारी या पेट्रोलिंग या अन्य पुलिसिंग गतिविधि में महिलाएं पुलिस वाहनों में ड्राइविंग सीट पर नजर आयेंगी. यानी जल्द ही पुलिस की थार जीप और सूमो चलाते हुए महिलाएं दिखेंगी. यह पहली बार है, जब पुलिस महकमे में ड्राइवर के तौर पर महिलाओं की बहाली होने जा रही है.
अन्य नौकरियों की तरह ही इस पद के लिए भी उन्हें 35 प्रतिशत आरक्षण का सीधा लाभ दिया जायेगा. पुलिस महकमे ने ड्राइवर बहाली की नयी नीति तैयार की है.
 पहले से मौजूद ड्राइवर बहाली नीति में कई महत्वपूर्ण संशोधन किये गये हैं. पुलिस मुख्यालय के स्तर पर इसे अंतिम रूप दे दिया गया है. अब इस पर विधि और वित्त विभाग की मुहर लगने के बाद यह कैबिनेट से पास भेजा जायेगा. कैिबनेट की मुहर के बाद यह लागू हो जायेगी. एक महीने के अंदर ही इसे लागू होने की संभावना है. इसमें महिलाओं को अन्य नौकरियों की तरह कई स्तर पर रियायतें भी दी जायेंगी.
ड्राइवर बहाली की नयी नियमावली हुई तैयार
सिपाही की  तरह इसमें भी महिलाओं को िमलेगा 35 प्रतिशत आरक्षण
पहली बार   परिवहन इंस्पेक्टर परिवहन दारोगा और परिवहन एएसआई के पद सृजित
ड्राइवर के करीब 700 पद हैं अब भी खाली
राज्य में पुलिस चालक के अभी करीब 700 पद खाली हैं. हालांकि, कुछ दिनों पहले 1551 पदों पर बहाली हुई थी. इसके बाद भी इतने पद खाली पड़े हैं, जिन पर नयी नियमावली के आधार पर बहाली होगी. छह महीने में इनकी बहाली की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है. चालक बनने के लिए सिपाही की तरह ही आइएसी या इंटर पास होना अनिवार्य होगा.
नयी नियमावली में कुछ खास प्रावधान किये गये हैं. इसके तहत हर वर्ष जुलाई महीने में चालक बहाली की वैकेंसी निकाली जायेगी.
रिक्त पदों की संख्या कम होने पर इनकी बहाली सिपाही बहाली के साथ ही की जायेगी. दोनों रिक्तियां एक साथ निकलेंगी. सिर्फ बहाली के दौरान अलग-अलग परीक्षा होगी. यह बहाली सिपाही चयन पर्षद के माध्यम से ही होगी. सबसे पहले लिखित परीक्षा होगी, इसके बाद फिजिकल और ड्राइविंग टेस्ट होगा. ड्राइविंग टेस्ट 100 अंकों का होगा.
इसमें ड्राइविंग के विशेष हुनर को परखा जायेगा. ड्राइवर बहाली में दौड़, लंबी कूद, गोला फेंक समेत अन्य सभी फिजिकल टेस्ट सिपाही की ही तरह होंगे, लेकिन इनके मानक सरल होंगे. पुरुषों को डेढ़ किमी और महिलाओं को एक किमी की दौड़ सात मिनट में पूरी करनी होगी.
पहली बार बनाये गये तीन नये पद
नयी चालक बहाली नियमावली में तीन नये पद बनाये गये हैं-परिवहन इंस्पेक्टर, परिवहन दारोगा और परिवहन एएसआइ या जमादार. इन पदों का सृजन पहली बार किया जा रहा है. इससे चालक सिपाही के रूप में बहाल हुआ कर्मी अपने कैडर में प्रोन्नति पाते हुए परिवहन इंस्पेक्टर तक आसानी से पहुंच सकेगा.
पहले चालकों की प्रोन्नति सामान्य पुलिसकर्मियों के साथ होने की वजह से वैकेंसी या रिक्तियों की बड़ी समस्या आती थी. इन तीन पदों के अलावा चालक हवलदार और कांस्टेबल के भी पद हैं, जो पहले से ही मौजूद हैं. इस तरह चालक कैडर में सिपाही से लेकर इंस्पेक्टर तक पांच पद हो गये हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!